Saturday, December 1, 2012

छत्रपति (शीर्षक गीत)



सन २००५ में तेलुगू में ’छत्रपति’ नामक फ़िल्म रीलीज़ हुई थी। राजामौली निर्देशित इस फ़िल्म में प्रभास, भानुप्रिया तथा श्रिया सरन की मुख्य भुमिकाएं थी। इस फ़िल्म का शीर्षक गीत और थीम संगीत बहुत ही सुमधुर है। फ़िल्म की रीलीज़ के बाद वह काफ़ी मशहूर हुआ था। ये संस्कृत गीत यहां शब्दों में लिखकर दे रहा हूं। इस लिंकपर यह गीत सुना जा सकता है।


अग्नी स्खलन संत्रधरिपु वर्ग प्रलय रथ छत्रपति..
मध्यमधिन सम्युध्यात किरण विद्यधुमति खनि छत्रपति..
तज्जेम तज्जेनु तधिम धिरन..
धिम धिम तटिक नट छत्रपति..
ऊर्वी प्रलय संभाव्यवर स्वच्छंद गुणधि.....

कुंभी निकर कुंभस्य गुरू कुंभि वलय पति छत्रपति..
झंझा पवन गर्वापहर विंद्याद्रीसम द्रुति छत्रपति..
चंडा प्रबल दोर्दंडजित दुर्दंड भट तति छत्रपति..
शत्रू प्रकर विच्छेदकर भीमार्जुन प्रति..... ॥ २ ॥

धिग धिग विजय डंका निनद घंटारव तुष्ठित छत्रपति..
संघ स्वजन विद्रोही गण विध्वंसव्रत मति छत्रपति..
आर्थात्राण दुष्टद्युम्न क्षात्र स्फुर्ति दिधति..
भीमक्षामपति, शिक्षा, स्मृति स्थापति.....

फ़िल्म: छत्रपति (तेलुगू, मल्याळम-डब), हुकुमत की जंग (हिंदी-डब)
संगीत: किरावनी
समूह गायक: किरावनी, मंजिरी, मतांगी.

इस गीत के गीतकार कौन है? इस की जानकारी मुझे नहीं मिली। अगर किसी को इस के बारे में जानकारी है तो कृपया कमेंट करें।